95 Crore Smartphones to Get Hacked Via 1 Message: Research

एक रिसर्च के अनुसार 95 करोड़ स्मार्टफोन्स सिर्फ एक टेक्स्ट मेसेज से हैक किये जज सकते है। इन स्मार्टफोन्स की सिक्यॉरिटी में इतनी सारी खामियां मौजूद हैं कि इन्हें खोले बिना ही, इन्हें हैक किया जा सकता है। बंद मेसेज में ही यह बग 95% डिवाइसेज (ऐंड्रॉयड) की सिक्यॉरिटी को नष्ट कर सकता है।

95 Crore Smartphones to Get Hacked

एक मोबाइल सिक्यॉरिटी एजेंसी ने कुछ समय पहले ही इस कमी का खुलासा किया है। जिम्पेरियम के रीसर्चर्स ने दावा किया है कि ‘स्टेजफ्राइट’ नामक एक अटैक 95% ऐंड्रॉयड डिवाइसेज को नियंत्रित कर सकता है। हालांकि, गूगल का कहना है कि फिलहाल इससे कोई भी स्मार्टफोन्स प्रभावित नहीं हुए है।

जोशुआ ड्रेक (प्लैटफॉर्म रीसर्च ऐंड एक्स्प्लॉइटेशन के वाइस प्रेजिडेंट) का कहना है कि अटैक लॉन्च करने हेतु सिर्फ मोबाइल नंबर ही काफी है। इससे कम्पनी एग्जेक्युटिव्स से लेकर सरकारी अधिकारी, किसी पर भी निशाना साधा जा सकता है।

यह बग फोन में पहुंचते ही अपना काम शुरू कर देता है।

ड्रेक लिखते है कि अटैक सफल होने पर खुद-ब-खुद इन्फेक्टेड मेसेज डिलीट हो जाएगा और आपको मेसेज नहीं, बल्कि सिर्फ नोटिफिकेशन दिखाई देगी ।

जिम्पेरियम ने Nexus 5 पर इसके स्क्रीनशॉट भी लिए जिसमें लेटेस्ट ऐंड्रॉयड लॉलीपॉप 5.1.1 मौजूद है।

उन्होंने कहा, कि यह अटैक तब ज्यादा हो सकता है जब आप सो रहे हों। आपको कोई फर्क नजर नहीं आएगा। सबकुछ सामान्य ही लगेगा, परन्तु आपके फोन में ट्रोजन मौजूद होगा।

इस रिस्क को हल्के में लेते हुए गूगल ने कहा कि अब तक इससे किसी को भी कोई नुकसान नहीं पहुंचा है।

जिम्पेरियम के अनुसार ऐंड्रॉयड 2.2 फ्रोयो के बाद के सभी ऐंड्रॉयड डिवाइसेज इस अटैक के ज़द में आते है और खासकर जेली बीन (4.1) वर्जन से पहले के डिवाइसेज।

गूगल के एक प्रवक्ता के अनुसार, गूगल ने अपने पार्टनर्स को इस बग का फिक्स भेज दिया है ताकि यूज़र्स सुरक्षित रहें। रिसर्च की पूरी जानकारी सार्वजनिक होने के बाद गूगल, ओपन सोर्स में सिक्यॉरिटी अपडेट रिलीज कर देगा Nexus डिवाइसेज के लिए।

Comments are closed.