‘बॉस’ ने दी डिजिटल इंडिया को एक बहतर शुरुआत

‘बॉस’ के आगमन से डिजिटल इंडिया को एक धमाकेदार शुरूआत मिली है। भारत में ही तैयार किया गया, यह एक ऑपरेटिंग सिस्टम है जो विंडोज को रिप्लेस कर सकता है।

Boss to Replace Microsoft Windows

आइये जानें इसमें क्या फीचर्स हैं जो सरकार इसे विंडोज की जगह इस्तेमाल करना चाहती है-

इसका पूरा नाम ‘भारत ऑपरेटिंग सिस्टम सलूशन्स’ है और इसे सी-डैक पुणे में तैयार किया गया है।

भारत सरकार ने पहले ही रेलवेज में मोबाइल एप्प की घोषणा कर, बहुत से काम आसान करवाए है। अब इस ओएस के जरिये और भी चीज़े आसान हो जाएंगी।

इस ओएस की खासियत है कि यह हैकिंग प्रूफ होगा।

इस ऑपरेटिंग सिस्टम के विकास में डीआरडीओ, गुजरात टेक्निकल यूनिवर्सिटी, और भी कईं निजी कम्पनियां शामिल है।

यह लेनक्स पर काम करेगा।

मोदी जी हिंदी भाषा को डिजिटल दुनिया में सर्वोपरि मानते है, इसलिए अंग्रेजी भाषा न समझने वाले व्यक्ति भी इसका उपयोग कर पाएँगे। हिंदी के अलावा और भी भारतीय भाषाओँ को सपॉर्ट करेगा। इसमें यूनिकोड 7 की सुविधा है।

देश के ज्यादा से ज्यादा लोग इसका इस्तेमाल कर सकें, इसलिए यह फ्री ओपन सोसर्स ऑपरेटिंग सिस्टम है।

बॉस की साइट पर जाकर इसे डाउनलोड किया जा सकता हैं।

[ जरुर पढ़े: पाइरेटेड गेम्‍स चलाने वालो को विंडोज 10 ने दिया झटका ]

यह ही नहीं, बल्कि नेत्रहीन भी इसका उपयोग कर पाएँगे क्योंकि इसमें ई-स्पीक, ओकरा स्क्रीन रीडर और मैग्निफ़ायर जैसे फीचर्स भी मौजूद है।

इसका पहला वर्जन 2006-07 में तैयार किया गया था।

यह 3डी डेस्कटॉप और इंटेल के 32 व 64 बिट आर्किटेक्चर को भी सपॉर्ट करता है। नए इंटेल प्रोसेसर ने हाल ही एम् बहुत धूम मचाई थी।

अगले महीने तक सरकार इसका एक और वर्जन लॉन्च कर देगी। इसका नाम EduBOSS है और यह स्टूडेंट्स तथा टीचर्स के लिए बनाया गया है।