भारतीय तेल कंपनियों को मिली ऊर्जा सुरक्षा हेतु एक नयी तरकीब

भारतीय तेल कंपनियों को ऊर्जा सुरक्षा हेतु एक नयी तरकीब मिली है। माना जा रहा है कि भारतीय तेल कंपनियों ने रोसनेफ्त (तेल कंपनी) दो बड़े तेल ब्लॉकों में हिस्सेदारी खरीद ली है। इसलिए भारत पेट्रोलियम, इंडियन ऑयल, अथवा ऑयल इंडिया लगभग 4.2 अरब डॉलर निवेश करेंगी।

 invest in oil blocks of russia 1

इसमें दोनों पक्षों का फायदा है – एक तरफ भारतीय कंपनियों को ऊर्जा सुरक्षा हेतु तेल ब्लॉक में हिस्सेदारी मिल गई और दूसरी तरफ रोसनेफ्त को निवेश हेतु राशि मिल गई।

रूस के निवेश क्षेत्र कईं निवेशकों को आकर्षित करते हैं। ऐसे में भारत को पेट्रोलियम ब्लॉकों में हिस्सेदारी मिलनी एक बहुत बड़ी उपलब्धि है।

सभी समझौते रोसनेफ्त के सीईओ एवं भारतीय गैस मंत्री की उपस्थिति में हुए।

Indian Oil Companies to Invest in Oil Blocks of Russia

पहले समझौते में भारतीय कंपनियों ने तास-यूरियाख तेल ब्लॉक में हिस्सेदारी की बात की। इसमें भारतीय कोमप्नियों की 29.9 फीसद हिस्सेदारी होगी। 23.9 फीसद हिस्सेदारी बैंकोर तेल फील्ड में होगी।

invest in oil blocks of russia 3

जरुर पढ़ें: Embark on a Journey with the World’s Largest Cruise Ship

इसी फील्ड में ओएनजीसी विदेश लिमिटेड 15 फीसद हिस्सेदारी खरीद चुकी है। माना जा रहा है कि कुल मिलाके 49.9 फीसद हिस्सेदारी भारतीय कंपनियों के पास होगी। वही दूसरी तरफ रोसनेफ्त के पास 50.1 फीसद हिस्सेदारी रहेगी।