धरती से ज्यादा अंतरिक्ष में मिलने लगा है ऐल्कॉहॉल

अंतरिक्ष में ‘लवजॉय’ नामक एक धूमकेतु है जिसके कारण अंतरिक्ष में भी ऐल्कॉहॉल मिलने लगा है। माना जा रहा है कि यह धूमकेतु लगभग 500 बोतल वाइन रिलीज कर देता है।

Lovejoy Comet Releases 500 Bottles Alcohol

वैज्ञानिकों के अनुसार हर सेकंड भारी मात्र में ऐल्कॉहॉल रिलीज होता है।

इस खोज में पता लगा कि इस धूमकेतु पर एथिल ऐल्कॉहॉल की उपस्तिथि है। ऐल्कॉहॉल से युक्त पेय में एथिल ऐल्कॉहॉल ही मौजूद होता है।

शोधकर्ताओ ने बताया कि इन नतीजों से पता चलता है कि धूमकेतु जीवन की उत्पत्ति हेतु जटिल जैविक अणुओं के स्रोत रहे होंगे।

हाल ही में हुए शोध में पाया गया की मार्स पर पानी के कुछ अंश मिलें है। इससे पता चलता है कि अंतरिक्ष में बहुत से ऐसे राज़ छुपे हैं जो वैज्ञानिक निरंतर खोजते रहते हैं।

ऐल्कॉहॉल की बात करें तो यह एक इंसान की कईं तरीकों से मदद करता है। इसका एक उदाहरण तो यही है कि सुनने में आया था कि गाड़ियाँ व्हिस्की से चलेंगी

धूमकेतु की बात करें तो पेरिस वेधशाला के निकोलस बाइवर का कहना है कि धूमकेतु लवजॉय अंतरिक्ष में इतना ऐल्कॉहॉल रिलीज करता है जो लगभग 500 बोतल वाइन की मात्रा के बराबर होता है।